अभी मेरी उम्र 25 वर्ष है, ये मेरे जीवन की सत्य घटना है, जो 4 वर्ष पहले मेरे साथ घटी। उस वक्त जब मैं स्नातक में था। मैं अपने चाचा के साथ ही रहता था। मेरे चाचा की नई-नई शादी हुई थीं। चाची 26 साल की थीं और दिखने में भी खूबसूरत थीं।
चूँकि मेरे चाचा आर्मी में थे, तो वो शादी के एक माह के बाद ही अपनी जॉब पर चले गए। उनके जाने के बाद चाची गुमसुम सी रहने लगीं थीं। रात को भी बेचैन रहती थीं।
अब मुझ पर भी जवानी छा चुकी थी। पोर्न-मूवी देख-देख कर और सैक्स स्टोरी पढ़ कर मैं सैक्स के बारे में काफी कुछ जान चुका था इसलिए मैं चाची की तड़प को समझ सकता था। मगर मजबूर था चाह के भी कुछ नहीं कर सकता था। घर पर मैं, चाची और दादी रहते थे।
चाची के आने के बाद मैं भी चाची के साथ रहने लगा क्योंकि वो पढ़ाई में मेरी मदद करती थीं। धीरे-धीरे हम दोनों एक दूसरे के साथ घुल मिल गए। देखते-देखते 6 माह गुजर गए। अब हम अच्छे दोस्त बन चुके थे। (more…)



बात उस समय की हैं जब मैं 22 साल का था। मैं इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करके घर आया।

घर आते समय मैं अपनी चाची के घर रुका। चाची की उम्र 26 साल थी। उनकी एक बेटी 3 साल की थी। चाची का कोई जवाब ही नहीं था सुन्दरता में ! उनका फिगर कातिलाना था जब चाची की शादी हुई थी।

मैं तब से उनके लिए मन में खवाब देखने लगा था कि कभी तो चाची को चोदूँगा जरूर मगर मुझे कभी मौका नहीं मिला था। मुझे आज लगा कि मैं चाची को चोद लूँगा और किस्मत से उस के अगले दिन चाचा काम के सिलसिले से दिल्ली जाने वाले थे।

मैंने मन बना लिया था। मैं अब मौका नहीं गवाँने वाला था। मैं उस दिन घर जाने के लिए कहने लगा। चाचा और चाची दोनों ने मुझे घर जाने से मना कर दिया।

चाचा ने कहा- मैं 4-5 दिन मैं आऊँगा और तुम्हारी चाची अकेली हैं। तुम मेरे आने तक यहीं रुको। चाची ने भी यही कहा। मैं भी मान गया और चाची ने घर फ़ोन करके कह दिया कि मैं 5 दिन यहीं रुकूँगा। फिर क्या था मैं तो मन ही मन बहुत खुश हुआ। चाचा के जाने का इन्तजार करने लगा।

(more…)